Monday, October 26, 2009

चंदन का ब्‍लॉग

उसका कहना है कि उसका नाम चंदन पांडेय है और वह कहानियां लिखता है. और यह भी कि वह बार-बार कही गई बात को एक बार फिर कह देने में कोई गुरेज़ नहीं करता. हम उसके कहे हुए को सच मानते हैं. लेकिन जब वह ब्‍लॉग बनाता है, तो उसका नाम 'नई बात' रखता है. यह एक शालीन-सा विरोधाभास है, जिसके धागे उसकी कहानियों को नये के क़रीने से बांधते हैं. :-)

ख़ैर. उसका नाम चंदन पांडेय है और वह ख़ूबसूरत कहानियां लिखता है और अच्‍छी किताबें पढ़ता है और मेरा दोस्‍त है और अभी-अभी उसने अपने ब्‍लॉग की शुरुआत की है. एक बार जाइए, मुझे यक़ीन है, फिर आप बार-बार जाएंगे.

नीचे प्राइसनर का संगीत है, छोटी लेकिन अद्भुत कंपोजीशन- 'बोलेरो', चंदन के लिए.



6 comments:

अर्शिया said...

आपका सुझाव सर आंखों पर।
वैज्ञानिक दृष्टिकोण अपनाएं, राष्ट्र को प्रगति पथ पर ले जाएं।

अशोक कुमार पाण्डेय said...

गया भाई
और रास्ता भी देख लिया
साईकल से आया जाया करेंगे

शिरीष कुमार मौर्य said...

चन्दन की राह दिखने का शुक्रिया गीत. वो ऐसा आदमी है कि ख़ुद कभी नहीं बतायेगा मुझे कि नई बात भी कुछ है.

sidheshwer said...

बहुत बढ़िया भाई !

Pradeep Jilwane said...

यह एक सुखद पहल है कि ब्‍लॉग जगत में हिंदी के युवा लेखकों और कवियों की एक लंबी सूची तैयार होती जा रही है. भविष्‍य में इसके अच्‍छे परिणाम भी देखने को मिलेंगे. ऐसी आशा की जानी चाहिए. चंदन भाई की राह दिखाने के लिए धन्‍यवाद.

चन्दन said...

Thank u Bhaiya..
मैं इस पर कमेंट करना भूल गया था. और यह कितनी अच्छी बात आपने लिखी है.

अगैन थैंक यू.

चन्दन